असहिष्णुता गैंग- इसे पता ही नही चलता लेकिन कभी भी एक्टिव हो जाता है

Medhaj News 26 Jul 19 , 18:46:41 Science & Technology Viewed : 338 Times
Maar_Peet.jpg

असहिष्णुता  गैंग की नींद पूरी हो गई और उसको ज्ञान प्राप्त हुआ। इस गैंग की खासियत ये है जब मालदा में मोम लिंचिंग हो या बंगाल में इसे पता ही नही चलता। कश्मीर में हो या 84 के दंगे में इसे पता ही नही चलता मगर एक खास वर्ग के लिये तुरंत जाग जाता है ये  सिर्फ भारत मे पाया जाता है और हर जगह पाया जाता है, ये अति विदूण होते है, शेर भी इनसे डरता है, ये प्रसिद्ध प्राणी ही हो सकता है जिसको ये ज्ञान है कि मुझे किसमे फायदा है,ये बहुत चालक है इसको पता है कि शहीद औरंगेजब या अख्लाख इसमें से किसको पसंद करना है, ये भगवान अल्लाह से भी ज्यादा महान है और इसे सबके बारे में पता है कि पत्थर बाज निर्दोष होते है और उनका परिवार भी निर्दोष और बेबस होता है,और जो टैक्स देके अपनी आय के बाद देश मे आतंकवाद से लड़ते है और शहीद भी होते है उनका परिवार अपराधी होता है , उनमे से सही कौन है ये इनको पहले से पता होता ,ये गैंग कठोर निश्चय का होता है , जो ठान लिया वो ठान लिया फिर ये कश्मीर में शहीद डिप्टी एस पी मोहमद्द अयूब जो मोब लॉन्चिंग में मारे गये हो उसकी परवाह नही करता ,भारत तेरे टुकड़े होंगे हज़ार की परवाह करता है । ये मनमौजी होता है  राष्ट्र से ऊपर होता है ये कभी भी अवार्ड लौटाने में सक्षम है क्योंकि ये धनी प्रवत्ति का होता है, ये बीच बीच मे गूंगा और बेहरा भी होता है इसलिये मुंबई कांड हो या संसंद पे हमला इसे पता नही चलता, इसको जो शब्द पाक हो या पाक शब्द बीच मे आता हो अच्छा लगता है इसलिये ये भारत की सेना हो साहित्यकर हो या इतिहासकार या भारत का भोजन ये पसंद नही करता क्योकि उसमे पाक नही है |


    0
    0

    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story